19

February 2020
हरियाणा न्यूज़

पाकिस्तान के भले के लिए क्यों बयान देते हैं कांग्रेसी नेता: प्रधानमंत्री मोदी

October 19, 2019 05:07 PM

हरियाणा और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनावों में भाजपा आर्टिकल 370 और बालाकोट जैसे मुद्दे उठाकर कांग्रेस पर जमकर हमला कर रही है। शुक्रवार को गोहाना में प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी रैली में कांग्रेस पर कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि जब हम सर्जिकल स्ट्राइक, बालाकोट या आर्टिकल 370 की बात करते हैं,तब कांग्रेस दर्द से छटपटाने लगती है। पीएम ने कहा, जब हम स्वच्छ भारत की बात करते हैं,तब कांग्रेस के पेट में मरोड़ उठने लगता है। जब हम सर्जिकल स्ट्राइक का नाम लेते हैं, बालाकोट का नाम लेते हैं,तब कांग्रेस दर्द से छटपटाने लगती है। कांग्रेस के लोगों को जवाब देना चाहिए कि वे ऐसा क्यों बोलते हैं जो पाकिस्तान को अच्छा लगता है?' उन्होंने तंज कसते हुए कहा, 'मैं हैरान हूं। एक तरफ दर्द और एक तरफ हमदर्द। पाकिस्तान के साथ यह कैमिस्ट्री किसके लिए है? इस चुनाव में इसका जवाब ढूंढना पड़ेगा।
पीएम ने कहा, कांग्रेस के नेताओं ने मोदी को घेरने के लिए झूठे बयान दिए, उन्हीं के बयानों को पकड़कर पाकिस्तान पूरी दुनिया के सामने अपना केस मजबूत कर रहा है। उन्होंने पूछा, कांग्रेस के नेताओं के कश्मीर पर जो बयान आए वह किसके काम आए? उनके बोलने का फायदा कौन उठा रहा है? पाकिस्तान कहां-कहां उसका इस्तेमाल कर रहा है?' मोदी ने कहा कि अब कांग्रेस को जवाब देना चाहिए कि वे ऐसा क्यों बोल रहे हैं जो पाकिस्तान के लोगों को अच्छा लगता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में आर्टिकल 370 हटाने के जो सबसे मुखर विरोधी है,वहीं टोली हरियाणा को संभालने के लिए आ रही है। यह देश के जवानों का अपमान है। इस मौके पर दलितों खासतौर पर वाल्मीकि समुदाय के लोगों का मुद्दा उठाते हुए पीएम ने कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों पर सवाल खड़े किए।
पीएम ने कहा कि कांग्रेस को दलितों-पिछड़ों के संवेदनाओं की चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि 70 साल तक कश्मीर में वाल्मीकि लोगों को उनके अधिकार से वंचित रखा गया लेकिन कांग्रेस सोती रही। यह कब तक चलेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस को बाबा साहेब आंबेडकर के सपनों की चिंता नहीं है। प्रधानमंत्री ने यहां खेल और खिलाड़ियों के मुद्दे उठाते हुए कहा कि केंद्र में और हरियाणा में बीजेपी सरकार आने के बाद स्थितियां बदली हैं। पीएम ने कहा कि कांग्रेस के शासन में खिलाड़ियों का भविष्य सुरक्षित नहीं था। 2014 से पहले भारत में खेलों में घोटालों की खबरें आती थीं। खेल की चर्चा नहीं होती थी लेकिन बीते पांच सालों से गौरव और सम्मान की खबरें खेल जगत से आ रही हैं। उन्होंने कहा कि 2014 के बाद से न तो खेल बदला, न खिलाड़ी बदले और न ही मुकाबला आसान हुआ बल्कि बीजेपी सरकार आने के बाद से खेल क्षेत्र में स्थितियां बदली हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, 'हमने प्रतिभा पर जोर दिया है। खेल में राजनीति का 'र' नहीं घुसने दिया। जब हम देश के खिलाड़ी पर भरोसा करते हैं तो देश का खिलाड़ी भरोसे पर चार चांद लगा देता है।'

Have something to say? Post your comment
और हरियाणा न्यूज़
ताजा न्यूज़
सिंधिया के बदले बगावती सुर महाकाल एक्सप्रेस में बनाया गया मंदिर टी20 विश्व कप में डिविलियर्स को मिल सकता है अवसर : मार्क बाउचर दिल्ली की तर्ज पर हरियाणा के स्कूलों में मेगा पीटीएम का आयोजन अगले साल तक देशभर में 700 चार्जिंग स्टेशन स्थापित करेगी टाटा पावर भाजपा सांसद सनी देओल थिरके, सुनाए डायलॉग भाजपा विधायक मेंदोला का ज्योतिरादित्य सिंधिया को पत्र - बजट से नए रोजगार बढ़ने की उम्मीद हमारी सरकार पर्यावरण को नुकसान पहुंचाए बिना विकास सुनिश्चित कर रही है - नरेंद्र मोदी एयरटेल ने एजीआर के 10 हजार करोड़ रुपये चुकाए सुपरस्टार प्रभास ने जीता अपना पहला बॉलीवुड अवार्ड! ओला ने अब लंदन में शुरू की सेवा
Copyright © 2016 adhuniktimes.com All rights reserved. Terms & Conditions Privacy Policy