26

February 2020
हरियाणा न्यूज़

एजेएल प्लॉट आवंटन मामले में वोरा और हुड्डा को जमानत मिली

November 07, 2019 01:17 PM

पंचकूला। एजेएल प्लॉट आवंटन मामले में कांग्रेस नेता मोतीलाल वोरा और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की याचिका पर प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) की विशेष अदालत ने नियमित जमानत प्रदान कर दी है। अगली सुनवाई अब 10 दिसम्बर को होगी।
सुनवाई के दौरान दोनों मुख्य आरोपी हुड्डा और एजेएल हाउस के चेयरमैन वोरा कोर्ट में मौजूद रहे। पिछली सुनवाई में कोर्ट ने दोनों को पांच-पांच लाख रुपये के बेल बांड पर अंतरिम जमानत दी थी। इसके बाद बचाव पक्ष ने नियमित जमानत अर्जी दाखिल की थी। इस अर्जी पर ईडी ने जवाब दायर किया। इसके बाद कोर्ट ने फैसला सुनाया।
ईडी ने 26 अगस्त को हुड्डा एवं वोरा के खिलाफ शिकायत दाखिल की थी। हुड्डा पर आरोप है कि उन्होंने 64.93 करोड़ रुपये का प्लॉट 69 लाख 39 हजार रुपये में दिया था। कुछ दिन पहले ईडी ने पंचकूला में एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड को एक भूखंड आवंटन से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में हुड्डा से पूछताछ की थी। धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत उनके बयान दर्ज किए थे। एजेएल को आवंटित यह भूखंड (सेक्टर 6, सी-17 नंबर) पंचकूला में है। इसे पिछले साल ईडी ने कुर्क कर लिया था।
एजेएल का संचालन नेहरू-गांधी परिवार के सदस्यों और वरिष्ठ नेताओं के हाथों में है। यह ग्रुप नेशनल हेराल्ड का प्रकाशन करता है। ईडी की जांच में कहा गया है कि हुड्डा ने अपने पद का दुपयोग करते हुए 2005 में यह भूखंड पुन: आवंटन की आड़ में नए सिरे से एजेएल को 1982 की दर (91 रुपये प्रति वर्ग मीटर) और ब्याज के साथ आवंटित किया। इससे एजेएल को अनुचित फायदा हुआ।
इस भूखंड का बाजार मूल्य 64.93 करोड़ रुपये था, जबकि इसे हुड्डा ने 69.39 लाख रुपये में आवंटित किया।

Have something to say? Post your comment
और हरियाणा न्यूज़
ताजा न्यूज़
बुलेटप्रूफ मंदिर में रामलला होंगे शिफ्ट भुज के बाद सूरत में फिटनेस टेस्ट के नाम महिलाओं के कपड़े उतरवाए गए सरकारी स्कूल में जाएंगी मेलानिया ट्रंप पीएम ने खाया लिटटी-चोखा, बिहार में गरमाई सियासत साउथ ब्लॉक से दिल्ली कैंट जाएगा सेना मुख्यालय विश्व हिंदू परिषद के मॉडल पर ही बनेगा राममंदिर सरकार मंदी शब्द को स्वीकार नहीं करती: मनमोहन (टोक्यो) कोरोना कहर: 'डायमंड प्रिसेंज' क्रूज पर 2 लोगों की मौत सुप्रीम कोर्ट ने बच्ची से दुष्कर्म के हत्या के दोषी के डेथ वारंट पर लगाई रोक भारत में साल-2023 तक इंटरनेट यूजर्स की संख्या 90 करोड़ पहुंच जाएगी देश में जनजातीय भूमि का डेटा बैंक होना चाहिए: मंत्री अर्जुन मुंडा जनता सहित कई ट्रेनें 31 मार्च तक निरस्त
Copyright © 2016 adhuniktimes.com All rights reserved. Terms & Conditions Privacy Policy